नए नारे ‘अब होगा न्याय’ के सहारे दिल जीतेगी कांग्रेस, जावेद अख्तर ने तैयार किया गीत

कांग्रेस ने रविवार को लोकसभा चुनाव के लिए अपना नया नारा ”अब होगा न्याय” जारी

कांग्रेस ने रविवार को लोकसभा चुनाव के लिए अपना नया नारा ”अब होगा न्याय” जारी करते हुए आरोप लगाया कि देश में ‘अन्याय’ का माहौल है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा कि कांग्रेस का प्रचार अभियान ”न्याय” के ईद गिर्द केन्द्रित होगा। यह शब्द न केवल पार्टी की प्रस्तावित न्यूनतम आय गारंटी योजना को रेखांकित करता है, बल्कि समाज के सभी वर्गों को न्याय प्रदान करने की बात भी करता है। उन्होंने कहा, ”देश में न्याय की मांग की जा रही है जिससे गरीब वंचित हैं।” उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि ”अभियान दिलों को जीतने” पर केन्द्रित होगा।

शर्मा ने कहा कि पार्टी ने चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों का पालन कर अपने प्रचार के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए हैं। कांग्रेस ने कहा कि अभियान का मुख्य गीत ‘मैं ही तो हिन्दूस्तानी हूं” जावेद अख्तर ने लिखा है और संगीत अर्जुना हरजाई ने दिया है। अभियान फिल्म का निर्देशन निखिल अडवाणी ने किया है और इसके छायाकार तुषार कांति राय हैं।

शर्मा ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, अभियान पैनल के साथ-साथ कोर कमेटी के सदस्य प्रचार की रणनीति तैयार करने में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि अभियान के पीछे विज्ञापन एजेंसी ‘परसेप्ट है। युवा टीम पार्टी के डिजिटल मीडिया अभियान के लिए भी काम करती है।

ठान लिया है सारे हिंदुस्तान ने,
आयी है सुनहरी घड़ी “न्याय की।
हर धोखे, जुमले का होगा हिसाब,
घड़ियां खत्म हुई अब “अन्याय” की।।
कांग्रेस बनेगी हर जन की आवाज,
दूर करेगी पीड़ा हर “असहाय” की।

शर्मा ने बताया कि पार्टी के डिजिटल मीडिया मंच का काम ‘सिल्वरपुश’ देख रहा है, जबकि ‘डिजाइन बॉक्स’ और ‘निक्सन’ जैसे एजेंसियां भी प्रचार अभियान के कार्य में शामिल है। अभियान के तहत न्याय योजना, गरीबी उन्मूलन, बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार, किसान, महिला आरक्षण, सरलीकृत जीएसटी, सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा और स्टार्टअप जैसे मुद्दों को समेटा गया है, जिसका वादा कांग्रेस घोषणापत्र में किया गया है।

पार्टी नेताओं ने बताया कि इस ‘360 डिग्री क्रॉस-प्लेटफॉर्म’ अभियान में टीवी फिल्म, सिनेमा स्पॉट (कमर्शल विज्ञापन), रेडियो जिंगल, होर्डिंग और डिजिटल स्क्रीन, प्रिंट विज्ञापन, सोशल मीडिया और सार्वजनिक वाहन शामिल है। इन विज्ञापनों को मराठी, बंगाली, गुजराती, असमिया और मलयालम सहित छह भाषाओं में रूपांतरित भी किया गया है।

Source :- www.livehindustan.com

Related Articles

Leave a Reply

[td_block_social_counter facebook="dabangbharatnews" twitter="dabang_bharat" style="style8 td-social-boxed td-social-font-icons" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjM4IiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJwb3J0cmFpdCI6eyJtYXJnaW4tYm90dG9tIjoiMzAiLCJkaXNwbGF5IjoiIn0sInBvcnRyYWl0X21heF93aWR0aCI6MTAxOCwicG9ydHJhaXRfbWluX3dpZHRoIjo3Njh9" custom_title="Stay Connected" block_template_id="td_block_template_8" f_header_font_family="712" f_header_font_transform="uppercase" f_header_font_weight="500" f_header_font_size="17" border_color="#dd3333" instagram="dabangbharat" youtube="channel/UC6yBKlSw63mA_zdzht49lvQ"]
- Advertisement -spot_img

Latest Articles