Tuesday, June 21, 2022
Homeनागदाकृषि मंडी की सड़क निर्माण में बड़ी लापरवाही, रास्ता शुरू भी हुआ...

कृषि मंडी की सड़क निर्माण में बड़ी लापरवाही, रास्ता शुरू भी हुआ तो अनाज भरे वाहन निकल नहीं सकेंगे

कृषि उपज मंडी के सामने सड़क निर्माण में बड़ी लापरवाही सामने आई है। सड़क निर्माण पूर्ण के बाद कृषि उपज मंडी से भारी…

कृषि उपज मंडी के सामने सड़क निर्माण में बड़ी लापरवाही सामने आई है। सड़क निर्माण पूर्ण के बाद कृषि उपज मंडी से भारी वाहन निकल ही नहीं पाएंगे। वजह साफ है सड़क इतनी ऊंची हो गई है कि उपज लेकर निकलने वाले ट्रक यहां से गुजर रहे बिजली तारों में ही उलझ जाएंगे। ऐसे में सीजन के दौरान व्यापारियों सहित किसानों व मंडी अधिकारियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। मंडी कर्मचारी भी यहीं बात बोल रहे हैं कि सड़क की ऊंचाई बढ़ा देने से वाहन निकल ही नहीं पाएंगे। सड़क निर्माण के पहले सड़क के बीच में से गुजर रहे बिजली तारों व पोल को शिफ्ट करने की कार्रवाई करना चाहिए थी, लेकिन आनन-फानन में ही काम शुरू कर दिया गया, जिससे अब कृषि उपज मंडी को परेशानी होगी। बता दें 23 फरवरी तक पंजीयन के बाद आगामी माह से समर्थन मूल्य पर गेहूं उपज की खरीदी शुरू होने वाली है। इसमें उपज को गोदाम तक शिफ्ट करने के लिए ट्रकों का आवागमन बना रहेगा। 

मोड़ पर पेड़, वाहन नहीं ले पाते हैं टर्न 

मंडी कर्मचारियों ने दबी जुबान बताया कृषि उपज मंडी के मुख्य द्वार के सामने ही मोड़ पर पेड़ है। इससे मंडी में आने वाले भारी वाहनों सहित किसानों के ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को चेतनपुरा से आने के दौरान टर्न लेने में परेशानी होती है। सड़क निर्माण के पहले इसे शिफ्ट या अन्य काेई समाधान किया जाना था, लेकिन नपा ने जैसे पहले सड़क थी, उस पर ही सीसी रोड बना दी। इसमें आमजन की सुविधा के मान से कोई सुधार नहीं किया। 

650 क्विंटल उपज की हुई खरीदी 

नपा द्वारा 19 फरवरी तक सड़क निर्माण पूरा करने का दावा किया था। इस पर कृषि उपज मंडी द्वारा 16 से 19 फरवरी तक नीलामी बंद रखी, लेकिन मिक्सर मशीन खराब होने से ठेकेदार ने दो दिन काम बंद रखा और अभी भी काम पूरा नहीं हुआ। बुधवार को पिछले रास्ते चेतनपुरा से वाहनों को प्रवेश दिया गया। पिछला रास्ता संकरा होने पर किसान जैसे-तैसे ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर पहुंचे। कई किसान बड़े वाहन की जगह पिकअप में उपज लेकर आए, ताकि वाहन फंसे नहीं। बुधवार को मंडी में 650 क्विंटल उपज की खरीदी हुई, गत वर्ष 20 फरवरी को 671 क्विंटल उपज की खरीदी हुई थी। 

व्यापारियाें ने कहा गोदाम से खरीदी की दें अनुमति- व्यापारियों ने मंडी सचिव बी.एल. चौधरी से कहा सड़क निर्माण में लेटलतीफी से उन्हें नुकसान हो रहा है, इसलिए गोदाम से ही उपज खरीदी की अनुमति दें। चौधरी से नीलामी मंडी में ही कराने की बात कही। इस पर व्यापारियों ने नपा के अधिकारियों से चर्चा कर सड़क जल्द पूर्ण कराने को कहा, ताकि वह अपनी उपज बाहर भेज सके। 

Source :- bhaskar.com

Leave a Reply

Must Read

spot_img